गुरु रविदास जी

गुरु श्री रविदास का नाम शिरोमणि भगतों मे अंकित है| गुरु जी बचपन से ही समाज में फैली बुराइयों को दूर करने के लिए सदा तत्पर रहते थे | समाज मे फैली छुआ-छूत, ऊँच-नीच जैसी कुरीतियो को दूर करने में गुरु जी ने  महत्वपूर्ण भूमिका निभाई| बचपन से ही गुरु जी का झुकाव संतो की तरफ रहा। वे सन्त कबीर के गुरूभाई थे। ‘रविदास के पद’, ‘नारद भक्ति सूत्र’ और ‘रविदास की बानी’ उनके प्रमुख संग्रहों में से हैं।

 

नामु तेरो आरती भजनु मुरारे |
हरि के नाम बिनु झूठे सगल पसारे || रहउ०

You can also check: New songs lyrics 2017

नाम तेरा आसानी नाम तेरा उरसा,
नाम तेरा केसरो ले छिटकारे |

नाम तेरा अंभुला नाम तेरा चंदनोघसि,
जपे नाम ले तुझहि कउ चारे |

You can also check: Lyrics of new songs

नाम तेरा दीवा नाम तेरो बाती,
नाम तेरो तेल ले माहि पसारे |

You can also check: Old hindi song lyrics

नाम तेरे की जोति जलाई,
भइओ उजिआरो भवन समलारे |

Must check: Romantic hindi Songs

नाम तेरो तागा नाम फूल माला,
भार अठारह सगल जुठारे |

तेरो किया तुझही किया अरपउ,
नामु तेरा तुही चंवर ढोलारे |

दस अठा अठसठे चार खाणी,
इहै वरतणि है संगल संसारे |

कहै रविदास नाम तेरो आरती,
सतिनाम है हरि भोग तुम्हारे